अंतरिक्ष से दिखी सबसे पुरानी ॐ वैली, दुनियाभर के वैज्ञानिक जुटे

भोजपुर और मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के छिपे हुए प्राचीन रहस्य अब सामने आ रहे हैं। वैज्ञानिकों की मानें तो यहां हजारों साल पुरानी एक ओमवैली है, जिसे देखकर वैज्ञानिक खुद भी हैरान हैं।

मध्य प्रदेश का एक ऐतिहासिक मंदिर है भोजपुर। इस मंदिर के बारे में अधिकांश लोग जानते हैं लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि ये मंदिर वैज्ञानिक महत्व के लिए भी जाना जाता है।

जी हां- भोजपुर और मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के छिपे हुए प्राचीन रहस्य अब सामने आ रहे हैं। मानसून के समय ये ओमवैली पूरी तरह से सामने आ जाती है।

मौसम विभाग के अनुसार एक या दो दिनों में मानसून राजधानी भोपाल को तरबतर कर देगा। मानसून के पहुंचते ही इस ओम वैली का आकार पूरी तरह से निकल कर सामने आ जाता है।

यहां पर मौजूद हरियाली के बढ़ने और जलाशय भरने के बाद ओमवैली की तस्वीरें पूरी तरह से साफ नजर आती हैं। सैटेलाइट तस्वीरों में इस बात की पुष्टि भी होती है। इस ओम के मध्य में स्थित है प्राचीन बोजपुर मंदिर और इसके सिरे पर बसा है भोपाल शहर। आपको ये भी बता दें कि भूगोल विज्ञानियों का ये मानना है कि भोपाल शहर स्वास्तिक के आकार में बसाया था।

तो दोस्तों उम्मीद करता हु की आपको पूरी जानकारी मिली होगी और अगर आपको इसके बारे में कोई भी सवाल हो तो आप निचे comment कर सकते है। हम आपको इसी तरह की नयी जानकारी देते रहेंगे और अगर आप इसी तरह की जानकारी अपने ईमेल पर पाना चाहते है तो हमारी वेबसाइट को आज ही subscribe करले और हमें फेसबुक पर फॉलो करे!

पोस्ट अच्छी लगे तो जरूर शेयर करे

 

Shares 0

Comments

comments

Leave a Reply

error: Content is protected !!